Chairman's Message

शिक्षा सभी प्रगति का आधार है। यही उद्देश्य लेकर हमने लगभग 23 साल पहले इस क्षेत्र में कदम रखा था और इन दो दशकों के अनुभव ने हमें सिखाया है कि प्रगति केवल तभी संभव है, जब विद्यार्थियों का शैक्षिक विकास के साथ-साथ बौद्धिक एवं नैतिक विकास भी हो।

शिक्षा का पूरा उद्देश्य केवल किताबी ज्ञान प्रदान करने तक सीमित नहीं है, बल्कि एक छात्र में ज्ञान, संस्कार, विनम्रता और विश्वसनीयता जैसे मानवीय मूल्यों को विकसित करना है।

हम बच्चों के समग्र शिक्षा में विश्वास करते हैं, जिसमें शामिल है - शिक्षाविदों, सहपाठ्यचर्चा संबंधी गतिविधियाँ, खेल, शिक्षा और जीवन कौशल सीखना। हमारा प्रयास अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार्य शिक्षा के बीच संतुलन बनाना है।

विगत 23 वर्षों की इस अविरल यात्रा में अभिभावकों, शिक्षकां, वार्डन, हॉस्टल, मेस एवं नॉन टीचिंग स्टॉफ के हम आभारी हैं जिन्होंने प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रुप से युगांतर की इस सफलता में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। भविष्य में भी उनका सहयोग इसी तरह हमें मिलता रहेगा, इसी आशा के साथ....

शुभकामनाओं सहित...

Suresh Agrawal

(Chairman)